पूर्व CM की बहू पर FIR दर्ज : एफआईआर पर ऋचा ने कहा झूठे एफआईआर को कोर्ट में दूंगी चुनौती,जानिए क्या है पूरा मामला।

कोरबा(शांता न्यूज)18.11.2022-

छत्तीसगढ़ : पूर्व सीएम अजीत जोगी (Ajit Jogi) की बहू व जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी (Amit Jogi) की पत्नी ऋचा जोगी (Richa Jogi) के खिलाफ गलत जाति प्रमाण पत्र बनवाने पर मुंगेली सिटी कोतवाली पुलिस ने एफआइआर दर्ज की है।

मरवाही उपचुनाव के दौरान जाति मामले में ऋचा जोगी की जाति प्रमाण पत्र जो कि मुंगेली जिले से जारी हुआ था, उसकी शिकायत संत कुमार नेताम ने की थी। इस मामले में जांच के बाद सिटी कोतवाली मुंगेली ने एफआइआर दर्ज कर लिया है। अब फर्जी जाति प्रमाण पत्र में जिम्मेदार नौकरशाह पर भी कार्रवाई हो सकती है। आरोप है कि ऋचा जोगी ने खुद को गोंड जाति का बताते हुए जाति प्रमाण पत्र बनवाया था, जो कि गलत था। राज्य स्तरीय प्रमाणीकरण छानबीन समिति अनुसूचित जाति विकास ने इस संबंध में कलेक्टर को कार्रवाई के आदेश दिए थे। जानिए, क्या है मामला……

ऋचा जोगी की जाति का मामला मरवाही उपचुनाव के दौरान उठा था। अमित जोगी का जाति प्रमाण पत्र भूपेश बघेल सरकार ने निरस्त कर दिया था। उसी वक्त यह मसला सामने आया कि ऋचा जोगी के पास गोंड जाति का प्रमाणपत्र है, उसे भी निरस्त कर दिया गया। ऋचा जोगी को मुंगेली से 17 जुलाई, 2020 को जाति प्रमाण पत्र जारी हुआ था। जिसे 16 अक्टूबर, 2020 को निरस्त कर दिया गया था।

इसके बाद यह मामला उच्च स्तरीय प्रमाणीकरण छानबीन समिति आदिम जाति अनुसूचित जाति विकास के पास पहुंचा। 18 जून, 2021 को इस कमेटी ने भी जिला स्तरीय छानबीन समिति की रिपोर्ट को सही मानते हुए ऋचा जोगी का जाति प्रमाण पत्र निरस्त करते हुए यह पाया कि वे गोंड जाति की नहीं, बल्कि उनके पूर्वजों के अभिलेखों में ईसाई दर्ज है। जाति की छानबीन करने वाली राज्य स्तरीय प्रमाणीकरण छानबीन समिति की सिफारिशों के अनुरूप ऋचा जोगी के विरुद्ध थाना मुंगेली में केस दर्ज कराया गया है। अब इस मामले को लेकर प्रदेश की राजनीति गरमा सकती है।

एफआईआर पर ऋचा जोगी का बयान :-

छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री स्व. अजीत जोगी की पुत्रवधु और JCCJ के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी की पत्नी ऋचा जोगी ने अपने विरुद्ध दर्ज एफआईआर के मामले में कहा, जोगेरिया के लक्ष्ण एक बार फिर दिखने लगे हैं. चुनावी समर आते ही कभी भाजपा तो कभी कांग्रेस के नेताओं को जोगेरिया हो जाता है. डॉ. साहब को भी जोगेरिया हुआ था, नतीजा आज घर में बैठे हैं.

ऋचा ने कहा, जोगी जन अधिकार पदयात्रा के शुरू होने के बिल्कुल ठीक पहले मेरे विरुद्ध एफआईआर करना ये प्रमाणित करता है कि मुख्यमंत्री फिर एक बार जोगेरिया से ग्रसित हो गए हैं. उन्होंने कहा, मेरी जाति का मामला न्यायालय में विचाराधीन है, लेकिन उसके बाद भी बिना किसी कोर्ट आर्डर के मेरे विरुद्ध अचानक एफआईआर करना मुझे जोगी जन आधिकार पदयात्रा में भाग लेने से रोकने का प्रयास है. मैं जोगी जन अधिकार पदयात्रा की अकलतरा विधानसभा की पर्यवेक्षक हूं. पदयात्रा की जोरशोर से हो रही तैयारी और मिल रहे जनसमर्थन से घबरा कर मेरे विरुद्ध एफआईआर की गई है.

उन्होंने कहा कि मैं इस गैरकानूनी एफआईआर को कोर्ट में चैलेंज करूंगी और दूषित मानसिकता वाले हमारे जोगेरिया ग्रसित विरोधियों को यह चेतावनी देती हूं कि मैं अजीत जोगी की बहु ऋचा जोगी हूं. आपकी इन तुच्छ हथकंडों से कतई घबराने वाली नही हूं. मां हूं, मेरी हिम्मत का आप मुकाबला नहीं कर सकते. जोगी जन अधिकार पदयात्रा आपकी जड़ों को हिला देगी।

error: Content is protected !!